Best ghost stories from india । भूतों का सरदार ।

Best ghost stories from India

       भूतों का सरदार

              Bhooton Ka Sardar


   चिंटू एक बहुत ही सरारती लड़का था। वह अपने माता पिता की भी बात नहीं मानता था।

चिंटू इतना सरारती था कि वह आस पड़ोस के लोग भी उसे पसंद नहीं करते थे वह बच्चों को बहुत तंग करता था। वह अपने माता पिता के साथ राजनगर में रहता था। सरारती होने की वजह से जब चिंटू  बच्चों को तंग करता तो उनके माता पिता उसकी शिकायत उसके माता पिता से करते थे।
ghost stories netflix imdb, bharat mein bhooton ki kahani


चिंटू को अपनी छोटी बहन एक आँख भी नहीं भाती थी। वह हमेशा उससे लड़ाई झगडा करता रहता था। जब चिंटू के माता पिता उसे डांट देते थे तो वह और भड़क जाता था। चिंटू को टीवी देखना बहुत पसंद था। वह जब भी परेशान होता या गुस्से में होता तो वह टीवी के आगे जाकर बैठ जाता था।

 और उसका गुस्सा शांत हो जाता था। चिंटू को भूतों की फिल्में ज्यादा पसंद थी। वह उनसे प्रभावित होकर कभी कभार उनकी तरह एक्टिंग किया करता था।

जब भी चिंटू को पता चलता कि बाजार में नई भूत की फ़िल्म आई है तो वह उसे तुरंत खरीदने जाता था।
जब जब रात को वह फिल्में देखकर सोता तो उसे भूतों के सपने आते टब वह डर जाता और चीख उठता। इसके बावजूद चिंटू भूतों की फिल्में देखना बंद नही करता था।

उसके माता पिता उसे समझते रहते थे कि वह ज्यादा फिल्मे न देखे और अपना ध्यान पढ़ाई में लगाए। पर उसके कान पर तो जूँ तक नही रेंगती थी और अपने मे ही खोया रहता था।
एक दिन चिंटू के माता पिता छुटियों में चिंटू के मामा के घर जाने का प्लान बनाते है।



चिंटू को अपने मामा के घर जाना बहुत पसंद था इसलिय उसने अपना सारा सामान बांध लिया। फिर अगली ही सुबह वो चिंटू के मामा के घर जाने के लिए निकल जाते है।

 वो अपनी गाड़ी में जा रहे थे पहुंचते पहूंचते रात हो गई और दिन भर गाड़ी चलने की वजह से बहुत गर्म हो गई और बंद पड़ गई। जब चिंटू के पिता ने देखा तो उसमें पानी नहीं था। इसलिए वो चिंटू चिंटू की बहन और माँ को गाड़ी में पानी लेने निकल जाते हैं।

चिंटू के पापा ने बहुत ढूंढा पर उन्हें पानी कहीं नही मिला। पर सामने उन्हें एक महल दिखाई दिया। वह पानी ढूढ़ते ढूढ़ते उस महल के अंदर चले गए। महल में उन्होने जाकर देखा तो पाया उसमे कोई नही था वह पूरा महल खाली पड़ा था।

 उन्होंने बहुत आवाज लगाई पर किसी ने भी जवाब नहीं दिया। उन्होंने महल में पानी इधर उधर ढूंढा पर उन्हें पानी नही मिला। वह पानी ढूंढ ही रहे थे पर तभी उन्हें किसी के आने की आवाज सुनाई दी। वो दरवाजे की ओर दौड़े वहाँ जाकर देखा तो पाया कि उनकी पत्नी और बच्चों के साथ कोई अजनबी व्यक्ति खड़ा है।

 चिंटू के पापा के द्वारा पूंछे जाने पर उसने बताया कि यह महल राजा राजेन्द्र सिंह का है। उनकी मृत्यु के बाद अब वह इस महल की रक्षा करता है। उसने कहा ये लोग मुझे सड़क पर खड़े मिले तो मैंने सोचा क्यों ना इन्हें महल में ले चलू और आप भी वहीं मिल जायेंगे क्योंकि यहाँ आस पास कोई नही रहता।

 चिंटू के पापा उस व्यक्ति से मदद मांगते हुए कहते हैं कि क्या वह आज रात के लिए यहां रूक सकते हैं क्योंकि हमारी गाड़ी खराब हो चुकी है। अब हमारे पास गंतव्य तक पहुंचने का दूसरा रास्ता नही है। वह व्यकि उनको महल में रहने की आज्ञा दे देता है और उनको उनके कमरे दिखा देता है।

तकरीबन सभी लोग अपने अपने कमरे में सोने चले जाते हैं। पर चिंटू की मम्मी सोने से पहले स्नान करती थीं। वो स्नानघर है और नहाने का फ़ौहारा जैसे ही चालू करती हैं तो उसमें से खून बरसता है और चिंटू की मम्मी खून देखकर घबरा जाती हैं और चीख उठती हैं। चीख सुनकर चिंटू के पापा उनकी और दौड़ते हैं।



वहाँ जाकर देखते हैं कि चिंटू की मम्मी खून से लथ पथ हैं और तभी वो महल खंडर में परिवर्तित हो जाता है। सभी बहुत डर जाते हैं और जान बचाने के लिए दरवाजे की तरफ भागते हैं। पर दरवाजा बंद होता है।

अब चिंटू और उसकी बहन जोर जोर से रोने लगते हैं। चिंटू के पापा सबको धैर्य बंधाते हुए कहते हैं कि हम सही सलामत यहाँ से निकल जाएंगे।

तभी उनको एक अजीब सी आवाज सुनाई देती है। चिंटू के पाप आवाज की दिशा में जाते हैं यह देखने के लिए की आवाज किसकी है। कुछ देर बाद उनकी चीख सुनाई देती है।

 चीख सुनकर सब उनकी ओर भागते हैं और पाते हैं कि वहाँ पर बहुत सारे कंकाल पड़े होते हैं। सब उन कंकाल को देख कर डर जाते हैं। चिंटू रो रहा होता है और उसकी माँ उसके पिता के पास बैठी होती है।
Indian best ghost stories, best 2020 new ghost stories


तभी चिंटू का ध्यान उसकी बहन की तरफ जाता है और वह जोर जोर से रोने लगता है क्योंकि उसकी बहन वहां नहीं होती है।

फिर जैसे ही सभी उसको ढूढ़ते ढूढ़ते नीचे पहुंचते हैं तो देखते हैं कि उसकी लाश नीचे पड़ी होती है। उसकी मौत से सब बहुत डर जाते हैं। तभी जैसे दरवाजा खुलने की आवाज आती है तो सभी दरवाजे की तरफ भागते हैं पर चिंटू वहीं खड़ा रहता है।

 वहाँ पहुँचकर जैसे ही चिंटू के पापा दरवाजे को छूते हैं तो उनके शरीर के कई टुकड़े हो जाते है उनका तो पता ही नहीं चलता कि वो कब मर गए।

उनको ऐसे देखकर चिंटू की मम्मी अचंभित हो जाती हैं। तभी अचानक कोई शक्ति उन्हें हवा में लटका देती है। वो जोर जोर से चीखने चिल्लाने लगती हैं। उनकी चीख सुनकर चिंटू वहाँ पहुँचता है। अपनी मां को ऐसा लटका देख चिंटू सहम सा जाता है। वह अपनी मम्मी को नीचे उतरने की कोशिश करता है।

 पर वह उन तक पहुंच नहीं पाता। अचानक उसकी माँ नीचे गिरती है और उनकी मृत्यु हो जाती है क्योंकि नीचे पड़ी बोतल उनके पेट मे घुस जाती है। चिंटू बस अपनी माँ को धीरे धीरे मरते देखता रहता है वह कुछ नही कर पाता।

चिंटू अपनी माँ के पास बैठकर रो रहा होता है तभी उसे अजीब अजीब चीजे सुनाई और दिखाई देने लगती हैं। उसके पिता, माँ और बहन उसे अपने पास बुला रहे होते हैं। वो कहते हैं कि उसे भी मरना होगा।

 इससे डरकर वह इधर उधर  भागने लगता है। जब वह तेजी से भाग रहा होता है तो अचानक उसका पैर फिसल जाता है और वह गिर पड़ता है। गिरने की वजह से उसके सिर पर चोट लग जाती है और वह बेहोश हो जाता है।

जब सुबह हुई तो उसे अपनी माँ की आवाज सुनाई दे रही थी वो उसे नींद से जगा रहीं थीं। जब वह जागा तो पाया कि वह घर पर है। उसकी माँ बिल्कुल ठीक हैं। वह तुरंत उठकर उनको गले लगा लेता है और पूंछने लगता है कि पापा कहाँ हैं।

तो उसकी माँ ने बताया कि वह उसके मामा के घर जाने की तैयारी कर रहे हैं। चिंटू तुरंत बाहर गया और उसके पिता के गले लग गया फिर उसने अपनी बहन को देख और उसको गले लगाकर प्यार दिया।



फिर वह सोंचना लगता है कि वह केवल एक सपना था। उस दिन के बाद से चिंटू अपने घर वालों के साथ प्यार से रहने लगता है।

अब वह किसी को भी तांग नहीं किया करता। जिसके कारण सब लोग उसके दोस्त बन जाते हैं। उसने अब भूतों की फिल्में देखना भी बंद कर दिया था। वह अब खुश रहता था सब लोग चिंटू के इस व्यवहार से बहुत खुश थे।

पढ़ने के लिए धन्यवाद


एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ