Hindi Real Ghost Stories | Atma bani rakshak | आत्मा बनी रक्षक | kahaniya Plus हिंदी कहानियां

 

Hindi Real ghost stories Atma bani rakshak

दोस्तों क्या अपने कभी ऐसा महसूस किया है कि किसी आत्मा ने आपकी रक्षा की हो? क्या आपका सामना किसी आत्मा से हुआ है? (Hindi ghost stories of the day)

अगर हां तो ऐसी ही कहानी में आज आप लोगों के लिए लेकर आया हूं। (hindi real ghost stories Atma bani rakshak) इस कहानी मे राजू की रक्षा एक आत्मा करती है। (horror stories in hindi for kids) इस कहानी में हम पढ़ेंगे कि उसके दादा जी उसकी कैसे मदद करते हैं?

ऐसी ही दमदार कहानियां पढ़ने के लिए हमारे साथ जुड़े हैं। हम रेगुलर horror stories in hindi, ghost stories, kahaniya in hindi, 

  आत्मा बनी रक्षक

बहुत समय पहले की बात है। एक चंदन नगर नामक शहर में राजू नाम का लड़का पढ़ने जाता है। उसके गांव में सुविधाएं न होने की वजह से वह अपने माता पिता को छोड़कर शहर में पढ़ने जाता है। उसके माता पिता बहुत गरीब थे। पर किसी तरह राजू का दाखिला चंदन नगर के एक अच्छे कॉलेज में करवा दिया था।

यह भी पढ़ें...Real Horror Story In Hindi 2021| हमारा भूतिया स्कूल |

 वे राजू को डॉक्टर बनाना चाहते थे। राजू अपने माता पिता का सपना पूरा करने के लिए जी जान से मेहनत करता था। उसने अपनी फीस के पैसे इक्कठे करने के लिए छोटे बच्चों को ट्यूशन पढाना शुरू कर दिया था। उसमे से को रुपए बच जाते थे तो वह कुछ अपने माता पिता को भी भेज दिया करता था। राजू कॉलेज में नया था इसलिए कॉलेज में कई बच्चे उसे परेशान करते रहते थे। पर राजू उनका बुरा नहीं मानता था।


 एक दिन जब राजू अपने घर जा रहा होता है तो रास्ते में उसे कुछ गुंडे मील जाते हैं। वे राजू को परेशान करते हैं और उसका सामान छीन लेते हैं। जब राजू उन्हे रोकने की कोशिश करता है तो वे उसे चाकू दिखाकर जान से मारने की धमकी देते हैं। राजू यह सोच कर चुप हो जाता है कि वह शहर में सिर्फ पढ़ने आया है उस फालतू के झगड़ों में नहीं उलझना है। उसके बाद राजू अपने घर चला जाता है। 

यह भी पढ़ें...Horror story in Hindi। Online Bhuton ka jamana। ऑनलाइन भूतों का जमाना

अगले दिन फिर जब राजू कॉलेज से घर लौट रहा था तो फिर कुछ लोग एक बूढ़े आदमी से नोटो से भरा बैग छीन रहे होते हैं। वह बूढ़ा आदमी जोर जोर से बचाओ-बचाओ चिल्ला रहा होता है पर कोई उसकी नहीं सुनता है। उस बूढ़े आदमी के साथ उसकी पोती होती है। वे उसके साथ बत्तमिजी कर रहे होते हैं। यह राजू से देखा नहीं जाता और वह उसकी मदद करने के लिए जाता है। पर वे सब मिलकर राजू को बहुत मरते पीटते हैं। 


राजू को चोंट लगने के कारण वह बेहोश हो जाता है। जब उसकी आंख खुलती है तो वह खुद को एक अस्पताल में पाता है। नर्स उसे बताती है कि कल रात जख्मी हालत में वह यहां आया था। पर राजू को कुछ याद नहीं रहता की कल रात उसके साथ क्या हुआ था। राजू अपने माता पिता को इसके बारे में कुछ नहीं बताता। जब उसे अस्पताल से छुट्टी मिलती है तो वह अपने गाव जाता है। 

गांव जाकर उसे पता चलता है कि एक सड़क दुर्घटना में उसके दादा की मृत्यु हो चुकी होती है। उसके पिता उसे फोन कर रहे होते हैं पर उसका फोन बंद बताता है। 


राजू अपने दादा जी से बहुत प्रेम करता था। उसके दादा भी उसे उतना ही चाहते थे। कुछ दिन गांव में रुकने के बाद वह फिर शहर चला जाता है। वह मन लगाकर अपने माता पिता का सपना पूरा करने मे लग जाता है। एक दिन फिर जब वह कॉलेज से घर लौट रहा था तो फिर कुछ गुंडे उसे पकड़ लेते हैं और उसका सामान छीन लेते हैं। 

वे राजू को बहुत पीटते हैं। इस बार राजू बहुत दुखी हो जाता है। वह अपने बेड पर बैठ कर रोने लगता है। राजू को रोता देख उसके साथ रहने वाले लड़के उससे पुंछते हैं कि आखिर वह क्यों रो रहा है। फिर राजू उन्हे सब कुछ बताता है और कहता है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो वह अपने माता पिता का सपना कैसे पूरा करेगा। 


फिर वह कुछ दिनों तक कॉलेज नहीं जाता है। उसके कॉलेज से उसे वार्निंग लेटर आ जाता है। उसके दोस्तों ने उसे बहुत समझाया वह कॉलेज वापस जाने लगता है। 

फिर एक दिन जब राजू पुस्तकालय से वापस लौट रहा होता है तो वे गुंडे उसे फिर मिल जाते हैं। वे राजू को फिर से पीटते हैं। सिर पर चोट लग जाने कि वजह से वह बेहोश हो जाता है। अगली सुबह जब उस होश आता है तो वह अपने बेड पर लेटा हुआ होता है। 


वह अपने साथियों से पंछता है कि वह घर कैसे पहुंचा। तो उसके साथी उस अचरज भरी नजरों से देखने लगते हैं। तुम यह क्या कह रहे हो तुमने है तो उन गुंडों की जम कर पिटाई की थी। हमे तो विश्वास नहीं हुआ कि तुम्हरे अंदर यह हुनर भी है। फिर कुछ दिनों बाद वे गुंडे कुछ और लोगों के साथ राजू को मारने जाते हैं। पर इस बार भी वह उन्हे मार भागता है और सुबह होने पर फिर पूछता है कि कल रात क्या हुआ। 

यह भी पढ़ें...Horror stories short | अनोखी दुनिया की सैर । Anokhi duniya ki sair

अब मानो यह उसका रोज का हो गया था। वह अब अपने कॉलेज में अच्छा प्रदर्शन कर रहा होता है। पर यह सब उस बहुत अजीब लगने लगता है। एक दिन तो हद ही हो जाती है जब पुलिस राजू को पकड़कर ले जाती है। वह राजू से पूछते हैं कि आखिर उसने उन लोगों को क्यों मारा। राजू को कुछ भी याद नहीं होता है। इसलिए वह उन से पूछता है कि आखिर किन लोगो को उसने मारा है। 


फिर सबूत न मिलने के कारण पुलिस राजू को छोड़ देती है। अब राजू इससे तंग आ जाता है। वह एक पंडित के पास चला जाता है। वह जानना चाहता था कि आखिर उसके साथ यह क्या हो रहा है। 

पंडित उसे बताता है कि उस राजू के घर पर यज्ञ करना होगा यही एक मात्र तरीका है। जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि आखिर उसके साथ क्या हो रहा है। 

वह पंडित राजू के घर पर यज्ञ करता है। तब उसे पता चलता है कि राजू के ऊपर एक आत्मा का साया है। वह राजू को सतर्क रहने के लिए कहता है। उसे पता चलता है कि वह आत्मा और कोई नहीं बल्कि उसके दादा जी की है, जो उन गुंडों को पीट रही थी। 

वे गुंडे राजू की पढ़ाई में खलल डाल रहे थे। जिसे उन्हे दूर करना था। इसलिए वह राजू के शरीर में प्रवेश लेते हैं। वह कहते हैं कि जैसे ही राजू अपनी पढ़ाई पूरी कर लेगा वे राजू के शरीर को छोड़ कर चले जाएंगे। 


अब ऐसा ही होता है जब भी कोई राजू को परेशान करता वे उस सबक सिखाते थे। अब वह दिन आ जाता है जब राजू अपनी पढ़ाई पूरी कर लेता है और उसके दादा जी उसे अलविदा कहते हैं। 


इस प्रकार लाख संकटों के बावजूद राजू अपनी पढ़ाई पूरी करता है और पूरे कॉलेज में प्रथम स्थान गृहड़ करता है। वह एक अच्छा डॉक्टर बन जाता है।


पढ़ने के लिए धन्यवाद

तो दोस्तो कैसी लगी आज कि कहानी (hindi real ghost stories) atma bani rakshak (आत्मा बनी एक रक्षक)। मुझे आशा है कि आपको यह कहानी पसंद आई होगी। अगर आपके साथ भी कोई ऐसी (kahaniya in hindi with moral story in hindi

 घटना घटी है तो आप उसे हमारे साथ साझा कर सकते हैं। हम इसे पब्लिश करेंगे।

Send your story to our email

यह भी पढ़ें...

1. Best horror stories in hindi । New Story 2020 | Bali kanya । बलि कन्या ।

2. Horror stories for kids in hindi । शैतानी शव । Shaitani shav

3. Horror stories short । Mout ki chitthi । मौत की चिट्ठी ।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ